तुर्की बनेगा और भी ज्यादा ताकतवर देश।turkey military

turkey military( turkey military )तुर्की बनेगा और भी ज्यादा ताकतवर देश दुनिया के शक्तिशाली देशों में हो जाएगा शामिल।

देखा जा रहा है तुर्की के राष्ट्रपति है रजब तैयब एर्दोगान जब से तुर्की के राष्ट्रपति बने हैं तब से तुर्की अपने सुरक्षा को लेकर काफी चिंतित रहता है और अपनी सुरक्षा को बड़ी तेजी से बढ़ता जा रहा है और अपनी फौजी ताकत को भी कुछ साल पहले तुर्की की फौज ( turkey military ) दुनिया के कमजोर फौज में से एक थी लेकिन अब वह दुनिया के सबसे मजबूत फौज में से एक है तुर्की दुनिया के सबसे शक्तिशाली देशों में शामिल हो गया है कुछ ही सालों में।

तुर्की ने हाल ही में अमेरिका से f 15 फाइटर जेट प्लेन खरीदा है जो दुनिया के गिने-चुने देशों के पास ही ऐसे फाइटर जेट प्लेन है जिससे तुर्की की ताकत और भी ज्यादा बढ़ गई है जिसके बाद तुर्की ने रसिया से एस 400 एंटी मिसाइल सिस्टम खरीदा है जो दुनिया के शक्तिशाली देशों के पास ही है जिससे तुर्की ( turkey military ) ने अपनी सुरक्षा को और भी ज्यादा बढ़ा दिया है और इससे तुर्की और भी ज्यादा सुरक्षित हो गया है।

हाल ही में तुर्की के आजादी के 95 वर्ष पूरे होने पर यह ऐलान किया है कि तुर्की अब लंबी दूरी पर हमला करने वाले मिसाइल पर काम करेगा जो 2021 तक तैयार हो जाएगा। तैयब एर्दोगान का कहना है कि तुर्की अपनी ताकत को और भी ज्यादा तेजी से बढ़ा देगा तुर्की ( turkey military ) ने अपनी सुरक्षा को 20 परसेंट से 65 परसेंट बढ़ा दिया है जो बहुत ही ज्यादा है।

तुर्की ( turkey military ) अपने देश में ही आधुनिक मिसाइल बनाने का कार्यक्रम पहले ही शुरू कर चुका है तुर्की एक मिशन में है कि 2025 तक तुर्की और सब देशों की तरह अपना खुद का एक आधुनिक सिस्टम बनाए गा जिससे वह आधुनिक मिसाइल और सुरक्षा हथियार बना सकेगा जिससे वह दुनिया के ताकतवर देशों में शामिल हो जाएगा अभी भी तुर्की दुनिया के ताकतवर देशों में शामिल है लेकिन तुर्की के राष्ट्रपति को दुनिया के सुपर पावर में शामिल करना चाहते हैं जिसे लेकर वह तेजी से काम कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *