Gaza में मुसलमानों ने जान देकर 16 साल बाद पढ़ी मस्जिद में नमाज।

Gaza (Gaza) मुसलमानों ने अपनी जान देकर इजराइल के कब्जे से ली वापस मस्जिद 16 साल बाद पढ़ी गई नमाज।

(Gaza)  गाजा में काफी लंबे समय से चल रहे मुसलमान और यहूदियों के बीच लड़ाई में मुसलमानों को बहुत बड़ी जीत मिली है इस जीत हासिल करने के लिए मुसलमानों ने कई जाने दे दिया।

(Gaza)  फिलिस्तीनी जो काफी लंबे समय से इजराइल से संघर्ष कर रहे हैं उन्होंने अपनी जी जान लगा दी इजराइल से मुकाबला करने में जिसमें उन्होंने काफी बड़ा जीत हासिल की है यहूदी प्रशासन पर दबाव बनाकर मस्जिद अल अक्सा के बंद दरवाजों को खुलवा दिया जिसे 16 साल से बंद कर कर रखा गया था।

इस्राएली यहूदी गैर कानूनी कदम उठाते हुए 2003 में इस मस्जिद के गेट को फिलिस्तीनी नमाजी के लिए बंद कर दिया गया था। लेकिन फिलिस्तीनीयो के लगातार इस गेट को खोलने के लिए प्रदर्शन किए जा रहे थे और मांगे की जा रही थी फिलिस्तीनी द्वारा हर मुमकिन कोशिश की जा रही थी इस गेट को खुलवाने के लिए मजबूर होकर इजरायली सरकार को 16 साल बाद बाबुर्रहमा मेहमान गेट को खोलना पड़ा।

Gaza सारे (Gaza)  फिलिस्तीनीयो ने मिलकर चाहे वह धार्मिक संस्थाओं, वक्फ संस्था और सैकड़ों आम फिलिस्तीनी ने मिलकर जोरदार प्रदर्शन किया और इस रैली शासन पर इजराइली सरकार पर दबाव बनाया मस्जिद के दरवाजे खोलने के लिए से मजबूर होकर इजराइली सरकार को दरवाजे खोलने पड़े।

कुछ हफ्ते पहले इस गेट के बाहर भी जोरदार प्रदर्शन किए गए इजरायली प्रशासन पुलिस चीनियों को डराने धमकाने की कोशिश की लेकिन इससे फिलिस्तीनी ऊपर कोई असर नहीं पड़ा इसके बाद कई पुलिस चीनियों को गिरफ्तार किया गया लेकिन फिलिस्तीनी डट कर प्रदर्शन करते रहे और इजराइली सरकार को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिए और आखिरकार इजराइली सरकार को इस दरवाजे को खोल ना ही पड़ा।

जब इस दरवाजे को खोल आ गया तो लोगों में एक खास किस्म की उत्साह देखी गई और उन्होंने गेट से अंदर जाकर मस्जिद ए अक्सा मे नमाज पढ़ी।

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *