मुस्लिम जगत को सब को एक साथ खड़ा होना पड़ेगा और इजरायल के खिलाफ आवाज उठानी पड़ेगी

मुस्लिम जगतमुस्लिम जगत को सब को एक साथ खड़ा होना पड़ेगा और इजरायल के खिलाफ आवाज उठानी पड़ेगी तैयब एर्दोगान ने कहा पिछले साल डोनाल्ड ट्रंप ने एक विवादित फैसला ले लिया था जिसमें डोनाल्ड ट्रंप ने जेरूसलम को इजराइल की राजधानी घोषित कर दिया था जिसके बाद पूरे दुनिया में इसके खिलाफ आवाज उठने लगी और अमेरिका को अपने विवादित फैसले को वापस लेना पड़ा

जिसके बाद अमेरिका ने इजरायल से यह वादा किया था कि वह अपना एंबेसी जेरूसलम में शिफ्ट करेगा अमेरिका ने जैसे ही अपनी एंबेसी को जेरूसलम शिफ्ट उसके बाद फिलिस्तीनी इसके विरोध में अपनी आवाज को बुलंद करने लगे और अमेरिका और इजरायल के खिलाफ प्रदर्शन करने लगे।

अमेरिका एंबेसी के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन करने लगे गाजा पट्टी में जिसके बाद इस्राएली फौज ने उन पर हमला किया और 70 फिलिस्तीनी शहीद हो गए और 3000 से ज्यादा लोग बुरी तरह घायल हो गया जिसके बाद हर जगह इसकी आलोचना की जाने लगी।

तैयब एर्दोगान ने एक आपातकालीन बैठक बुलाई थी जिसमें सभी मुस्लिम देशों को बुलाया गया था इस बैठक में तुर्की ने कहा कि फिलिस्तीन सारे मुसलमानों के लिए अहम है और फिलिस्तीन को उसका हक दिलाना हमारी जिम्मेदारी है सारे इस्लामी देशों को इजराइल के खिलाफ खड़ा होना पड़ेगा और अहम फैसले करने की जरूरत है।

मुस्लिम जगतफिलिस्तीन की हिफाजत हम पर फर्ज है और सारे मुस्लिम जगत इसके खिलाफ उठना पड़ेगा और यह मुद्दा सारे मुसलमानों के लिए सबसे अहम है। तैयब एर्दोगान जो फिलिस्तीन को मदद करने में सबसे आगे आगे हैं तैयब एर्दोगान ने ही सबसे पहले फिलिस्तीन के समर्थन में आवाज बुलंद की और सारे इस्लामी देशों को इसके खिलाफ आवाज उठाने के लिए कहा और सबको इजराइल के खिलाफ कड़े कदम उठाने की मांग की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *