तुर्की एक वक्त में दुनिया का सबसे ताकतवर देश था

तुर्की एक वक्ततुर्की एक वक्त में दुनिया का सबसे ताकतवर देश था जिसके आगे दुनिया की हर शक्ति घुटने टेक देती थी आपको जानकर यह हैरानी होगी कि तुर्की दुनिया का सबसे ताकतवर देश था जिसे उस्मानिया सल्तनत चलाती थी उस्मानिया सल्तनत की हुकूमत 40 देशों में चलती थी जो दुनिया की सबसे बड़ी हुकूमत थी।

जिसके आगे बड़े-बड़े ताकतवर इंसान भी नहीं टिक पाते थे उस्मानिया सल्तनत जो मुसलमानों का एक वक्त में शान था जिससे सारी दुनिया खौफ खाती थी उस्मानिया सल्तनत दुनिया की सबसे बड़ी सल्तनत थी जिसकी हुकूमत 40 देशों पर चलती थी और यह हुकूमत ऐसी हुकूमत थी जो हर मजहब को मानकर चलने की इजाजत देती थी और अपने मनमुताबिक तरीके से रहने की इजाजत देती थी।

उस्मानिया सल्तनत जो एक ताकतवर सल्तनत बन गई सुल्तान मोहम्मद और कई सुल्तान के वजह से आपने तुर्की के मशहूर शहर के बारे में सुना होगा जिसका नाम इस्तांबुल है उस वक्त यह तुर्की के कब्जे में नहीं था सुल्तान मोहम्मद अल फतेह ने इसके लिए जंग की थी और इस्तांबुल को सुल्तान मोहम्मद अल फतेह ने जीत लिया था और तुर्की और इस्लाम का परचम इस्तांबुल में लहरा दिया गया था।

उस वक्त इसका नाम इस्तांबुल नहीं था कुस्तुनतुनिया था लेकिन इसका नाम बदलकर इस्लाम बोल रख दिया गया था इसके बाद इस्लाम बोल को बदलकर इस्तांबुल कर दिया गया।

तुर्की के मुसलमानों तुर्की एक वक्तजो गलत ख्यालात के लोग थे अंग्रेज और यहूदी इसके खिलाफ हमेशा रहते थे क्योंकि उस्मानिया सल्तनत किसी के साथ गलत होने नहीं देता था और हमेशा इंसाफ करता था जिसके बाद अंग्रेजो और यहूदियों ने एक जाल के तहत उस्मानिया सल्तनत को बर्बाद कर दिया जो उस वक्त का सबसे ताकतवर सल्तनत था।

लेकिन एक बार फिर तुर्की उसी रास्ते पर चल रहा है और वही ताकत हासिल करने की कोशिश कर रहा है आज दुनिया में कहीं भी कुछ होता है तो सारे मुसलमान मदद के लिए तुर्की के तरफ देखते हैं और तुर्की हर देश की मदद करता है बढ़-चढ़कर हो सकता है आने वाले वक्त उस्मानिया सल्तनत का फिर से आगाज हो और फिर से एक बार इंसाफ की हुकूमत हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *